गन्ने में कैल्शियम डालने से क्या होता है?

गन्ना भारत में एक बहुत महत्वपूर्ण फसल है। इसको कई राज्य में उगाया जाता है और बहुत किसान इसे पैसे कमाते हैं। गन्ने की अधिक उपज के लिए, किसान अलग-अलग तरीको का प्रयोग करते हैं। एक तरिका है मिट्टी में कैल्शियम मिलाना। कैल्शियम पौधों की अच्छी तरह से वृद्धि और विकास में मदद करता है। इस लेख में यह बताया गया है कि कैल्शियम को गन्ने में मिलाने से उसकी वृद्धि कैसे होती है और किसान अपनी मिट्टी में कैल्शियम कैसे मिला सकते हैं।

Read more : जिन किसानों ने बैंकों से कर्ज लिया है उनके लिए बड़ी खबर: कर्ज माफ किया जाएगा. यह अच्छी खबर है।

गन्ने में कैल्शियम का महत्व

कैल्शियम बहुत जरूरी है गन्ने के पौधे के लिए। ये पौधे को उगाने और विकसित करने में मदद करता है। कैल्शियम प्लांट के सेल्स को डिवाइड और ग्रो करने में मदद करता है। ये सेल वॉल्स को भी मजबूत बनाता है। गन्ने के पौधों को कैल्शियम की जरूरत होती है ताकि वो मजबूत जड़ें बना खातिर और मिट्टी से पोषक तत्व अवशोषित कर सकें।

गन्ने में कैल्शियम की कमी

जब मिट्टी में कैल्शियम की कमी होती है तो गन्ने के पौधों को कोई समस्या होती है जैसे कि कम ग्रोथ, कम यील्ड और बेकर क्वालिटी। कैल्शियम की कामी से पौधों की वृद्धि रुक ​​जाती है, डंठल भंगुर हो जाते हैं और बिमारियां और कीट से पौधे जल्दी प्रभावित हो जाते हैं।

गन्ने में कैल्शियम मिलाने के फायदे

गन्ने में कैल्शियम मिलाने के कई फायदे हो सकते हैं, जिनमें से कुछ नीचे बताए गए हैं।.

Read more : पीएम उज्ज्वला योजना: देश के 9.59 करोड़ परिवारों को रसोई गैस सिलेंडर पर 2400 रुपये की सब्सिडी देने का ऐलान किया।

उपज बढ़ाता है

कैल्शियम गन्ने के पौधों के विकास और विकास में एक महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है। जब कैल्शियम को मिट्टी में डाला जाता है तो पौधे की क्षमता को बढ़ा देता है पोषक तत्वों को सोखने की, जिससे उपज बढ़ती है।

गन्ने की पैदावार बढ़ाता है

गुणवत्ता में सुधार करता है

कैल्शियम को गन्ने में ऐड करने से गन्ने की क्वालिटी भी बढ़ती है। कैल्शियम स्वस्थ डंठल बनाने में मदद करता है जो उच्च गुणवत्ता वाले गन्ने का उत्पादन करने के लिए बहुत जरूरी होते हैं।

रोगों और कीटों को कम करता है

कैल्शियम गन्ने में बिमारियों और कीटों की घाटना को भी कम कर सकता है। जब कैल्शियम को मिट्टी में ऐड किया जाता है तो ये प्लांट की रेजिस्टेंस को बढ़ाता है बिमारियां और पेस्ट्स के खिलाफ।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है

गन्ने में कैल्शियम मिलाने की विधियाँ

मिट्टी में कैल्शियम जोड़ने के विभिन्न तरीके हैं। उनमें से कुछ हैं:

चूना

चूने में मिट्टी का पीएच बढ़ाने के लिए मिट्टी में कैल्शियम कार्बोनेट मिलाया जाता है। यह विधि अम्लीय मिट्टी में उपयोगी होती है जहाँ कैल्शियम की कमी होती है।

जिप्सम आवेदन

जिप्सम एक कैल्शियम सल्फेट मिनरल है जो मिट्टी की संरचना को बेहतर बनाने और मिट्टी में कैल्शियम लेवल को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। ये उन मिट्टी में उपयोगी होता है जिनमे सोडियम कंटेंट ज्यादा होता है।

कैल्शियम अमोनियम नाइट्रेट (CAN) अनुप्रयोग

कैन एक फर्टिलाइजर है जो कैल्शियम और नाइट्रोजन दोनों में कर्ता है। ये पौधों को नाइट्रोजन और कैल्शियम का जल्दी रिलीज करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

Conclusion

गन्ने के पौधों के लिए कैल्शियम बहुत जरूरी है। यदि उन्हें पर्याप्त कैल्शियम नहीं मिलता है, तो वे अच्छी तरह से नहीं बढ़ेंगे और गन्ना अच्छा नहीं होगा। कैल्शियम मिलाने से गन्ने को बेहतर बनाने में मदद मिल सकती है।

Leave a Comment

गन्ने की फसल को बर्बाद कर देता है चोटी भेदक रोग, ऐसे करें इससे उपचार ? ये 5 शेयर दिलाएंगे 1 साल में झमाझम मुनाफा! 24% तक रिटर्न 1 साल में 48% तक का लाभ हो सकता है! 5 क्‍वॉलिटी शेयर जो है बेहद कमाल के। Delhi Metro: ऐसे करें Paytm पर दिल्ली मेट्रो टिकट बुकिंग! Sugarcane price: गन्ने का मूल्य वृद्धि – यूपी के किसानों के लिए बड़ा तोहफा लाख की खेती से किसान लाखों कमा सकते हैं, जानें पूरी जानकारी PM किसान सम्मान निधि: इतने बजे अकाउंट में आएगा पैसा, पीएम मोदी करेंगे बटन दबाने का ऐलान (Copy) देश में ‘मीठी क्रांति’ लाने वाली गन्ने की प्रजाति को लगा बड़ा झटका भुगतान में देरी को लेकर किसानों ने की शिकायत गन्ना क्लीनिक – किसानों के लिए फायदेमंद 801 गन्ना किसानों का पता नहीं, भुगतान अटका गन्ने के लाल सड़न रोग पर नियंत्रण के उपाय सीएम योगी का तोहफा: यूपी के गन्ना किसानों को बंपर बोनस का ऐलान! किसानों को इन तीन योजनाओं से आर्थिक मदद पीएम किसान योजना की 15वीं किस्त से पहले चेक करें अपना नाम पीएम किसान पेंशन योजना गन्ना मूल्य 450 बढ़ाने के लिए भाकियू का आंदोलन जारी गन्ना किसानों को मिली बड़ी राहत Bijnor News: बिलाई चीनी मिल को नहीं मिलेगा गन्ना, किसानों ने लिया बड़ा फैसला Meerut News: गन्ना खेती में ट्रेंच विधि से अधिक मुनाफा