अधिक उत्पादकता अथबा लाभ प्राप्त करने हेतु उन्नत प्रजातियों का चयन बेहद महत्वपूर्ण है।

 गन्ने की संस्तुत प्रजातियों में अगेती (10 माह) तथा मध्य पछेती (11 – 12 माह में पकने वाली) का चयन कृषकों को उपज और गुणवत्ता के आधार पर करना होता है। 

गन्ने की अधिक उत्पादकता एवं कृषकों को ज्यादा लाभ हेतु उन्नत प्रजातियों तथा अन्य गन्ना उत्पादन तकनीक का संक्षेप में विवरण प्रस्तुत है –: 

उन्नत किस्मों की क्षमता के अंतर्गत उत्पादन ले पाना तभी संभव है, 

तब उनके लिए उचित फसल ज्यामिति अथबा अनुकूल जल एवं मृदा उपलब्ध हों। 

गन्ने की आँख के समुचित अंकुरण,जड़ों के विकास तथा फसल की ओज के लिए प्रारंभिक आवश्यकता है 

कि गन्ना बुआई के समय बीज गन्ना और मृदा में उत्तम सम्पर्क हो। 

जड़ों की मृदा में उत्तम सम्पर्क हो।